Prabhat Bandhulya

1.अपनी पुस्तक लिखने की यात्रा के बारे में कुछ बताइए ।

उत्तर :- सोंचने से लेकर लिखने की एक छोटी सी यात्रा होती है। यह कोई योजनाबद्ध तरीका नहीं है। बनारस में पढ़ता था और जो जिंदगी मैंने जिंदादिली के साथ गुजारा था उसे ही लिख डाला।
2. अपनी किताब के बारे में कुछ बताइए ।
उत्तर :- मेरी उपन्यास दो विचारधारा लाल सलाम और जयश्रीराम के बीच की प्रेम कहानी है।
3. यह कहा जाता है लेखक एक और रचनाकार होते हैं, क्या आप इससे सहमत हैं?
उत्तर :- अगर हम कुछ रच रहे हैं तो स्वभाविक रूप से रचनाकार हैं।
4. परिवार के अलावा आपकी प्रेरणा ।
उत्तर :- मेरी प्रेरणा मैं खुद हूँ , बोले तो मेरी जिंदगी , गाँव , कॉलेज और उस समय की मेरी स्थिति।
5. अपने बारे में कुछ बताइए ।
उत्तर :- मेरे बारे में यही है इश्क़ करता , लिखता और पड़ता हूँ।
6. खुद की पुस्तक पकड़कर एक विशेष भावना हमेशा होती है । आपके लिए यह
कैसा एहसास था ?
उतर :- खुद का पेड़ जब फल देने लगे तो विषय आनंद का होता है ठीक वैसा ही लेखक को अपनी लिखी पुस्तक देखकर अनुभूति होती है।
7. पसंदीदा लेखक कौन हैं? आपकी पसंदीदा पुस्तक क्या है?
उत्तर :- हमनें प्रेमचन्द से पढ़ना शुरू किया उनकी सभी रचना मेरे जहन में है और उसे ही मैं अपना पसंद भी बता सकता हूँ।
8. पाठक की(अच्छी और बुरी ) प्रतिक्रिया की कुछ यादें साझा करें ।
उत्तर :- हम कुछ भी लिखते हैं , बेबाक लिखते हैं । सभ्यता का झूठी चादर न ओढ़ते । यही अच्छी और बुरी प्रतक्रिया है किसी को अच्छा लगे तो किसी को बुरा।
9. अन्य शौक क्या हैं?
उत्तर :- लिखने के अलावा मुझे मंचो से संवाद । कविता पाठ करना अच्छा लगता है।
10. लेखन की योजना क्या है ?
उत्तर :- एक नई उपन्यास इस वर्ष आ रही है और कुछ फिल्में लिख रहा हूँ।
11.आपको कभी लगता है लेखन कठिन है ।
उत्तर :- नहीं बिल्कुल नहीं लेखन अपनी बात रखने का एक माध्यम है तो कठिन का कोई विषय ही नहीं।
12. आपने पहली बार कब महसूस किया भाषा में दिलो को बांधने की शक्ति है ?
उत्तर :- शायद जब दसवीं में मैं पहली बार प्रेम पत्र लिख रहा था उस वक्त।
13. आप किस शैली को लिखना पसंद करते हैं?
कहानी संग्रह या उपन्यास । गाँव और इश्क़ मेरा विषय है।
14.लिखते समय और प्रकाशित होते समय आपको कैसे चुनौतियों का सामना करना पड़ा ?
उत्तर :- मेरे लिए ऐसा कोई विषय न था हाँ हालाँकि मैं पहली किताब में अच्छे प्रकाशक के पास नहीं जा सका और मैं यही कहूँगा की प्रकाशक का चयन अच्छे से करें।
15. आपके प्यारे पाठकों के लिए कुछ शब्द ।
जी बस यही इश्क़ लिखते पढ़ते और करते रहें।

 

 

%d bloggers like this: